भारतीय रेल

  • भारतीय रेल (अमेरिका, रूस तथा चीन)के बाद विश्व का चौथा सबसे बड़ा नेटवर्क है ।
  • भारतीय रेल नेटवर्क चीन के बाद एशिया में दुसरे स्थान पर है ।
  • भारतीय रेल नेटवर्क भारत के सहित विश्व का भी सबसे बड़ा नियोक्ता है, जिसके 13 लाख से भी अधिक कर्मचारी हैं।
  • भारत में सबसे पहली रेल 16 अप्रैल 1853 को चलाई गई ,इसे मुंबई से ठाणे के बीच कुल 34 किमी . के ट्रैक पर चलाया गया ।
  • 16 अप्रैल को रेल दिवस मनाया जाता है तथा 10 से 16 अप्रैल तक रेल सप्ताह मनाया जाता है  ।
  • भारत में जब पहली रेलगाड़ी चलाई गई तब भारत में लार्ड डलहौजी का शासन था ।
  • भारत की प्रथम रेल गाड़ी का नाम ब्लैक ब्यूटी था यह एक स्टीम से चलने वाली रेलगाड़ी थी ।
  • भारतीय रेल का राष्ट्रीयकरण 1950 में हुआ ।
  • एकवर्थ समिति की सिफारिस पर 1924-25 में रेलवे बजट को आम बजट से अलग पेश किया गया भारत के रेल मंत्री संसद में प्रस्तुत करते थे जो मुख्य बजट के कुछ दिन पूर्व किया जाता था।
  •  21 सितम्बर 2016 को भारत सरकार  ने निर्णय लिया कि अब से रेल बजट को आम बजट में सम्मिलित कर लिया जायेगा। इस प्रकार 92 वर्षों से चली आ रही रेल बजट की प्रथा समाप्त कर दी गयी। 1 फरवरी 2017 को भारत का प्रथम 2017-18 का संयुक्त बजट पेश हुआ।
  • भारत का पहला रेल बजट जान मथाई (प्रथम रेल मंत्री) ने पेश किया ।
  • भारतीय रेल का मुख्यालय नई दिल्ली में है ।
  • भारतीय रेल को 17 जोन , 69 डिविजन तथा 21 रेलवे भर्ती बोर्ड में बांटा गया है ।
  • भारतीय रेलवे के प्रतीक अर्थात लोगो में 17 सितारे हैं ।
  • भारतीय रेलवे के दो प्रमुख खंड है- भाडा/माल वाहन तथा सवारी
  • भाड़ा खंड लगभग दो तिहाई राजस्व  जुटाता है जबकि शेष सवारी यातायात से आता है। 
  • IRCTC का फुल फॉर्म Indian Railway Catering and Tourism Corporation है ।
  • IRCTC अर्थात भारतीय रेलवे खान-पान एवम् पर्यटन निगम, भारतीय रेल  का का एक उपविभाग है जो रेलवे की खान-पान व्यवस्था, पर्यटन और ऑनलाइन टिकट सम्बन्धी कार्यों को सम्पादित करता है।
  • भारत की पहली महिला रेल मंत्री ममता बनर्जी थीं।
  • भारत के वर्तमान रेल मंत्री पीयूष गोयल हैं ।

भारतीय रेलवे से सम्बंधित कुछ महत्त्वपूर्ण वर्ष-

घटना वर्ष
पहली रेल 1853
भारतीय रेलवे एक्ट 1890
रेलवे बजट को आम बजट से अलग 1924-25
भारतीय रेल का राष्ट्रीयकरण 1950
रेल शताब्दी समारोह का आरंभ 1953
रेल कर्मचारी बीमा 1977
रेलवे सुरक्षा बोर्ड अर्थात RPF की स्थापना  1984
भारत की पहली मेट्रो रेल (कोलकाता) 1984
रेलयात्री बीमा 1994
भारत की दूसरी मेट्रो रेल (दिल्ली) 2002
भारत की पहली मोनो रेल (मुंबई) 2014
शताब्दी एक्सप्रेस 1988
राजधानी एक्सप्रेस 1969
दुरंतो एक्सप्रेस 2009
गतिमान एक्सप्रेस 2016
भारत का प्रथम संयुक्त बजट 2017-18
हैदराबाद मेट्रो 2017
बंगलुरु मेट्रो 2011
नागपुर मेट्रो 2019

भारतीय रेलवे के गेज – रेलवे की पटरियों के बीच की दूरी को गेज कहा जाता है ये भारत में 4 प्रकार की है-

  • ब्रॉड गेज (सबसे चौड़ा)- चौड़ाई- 5 फीट 6 इंच  (1.676 मी.)
  • मीटर गेज -3.33 फीट (1 मीटर)
  • नैरो गेज – 2.6 फीट (0.762 मीटर)
  • स्पेशल गेज -2 फीट (0.610 मीटर)

भारतीय रेलवे को 17 प्रमुख जोन में बांटा गया है जो निम्न है –

क्रमांक रेलवे जोन संक्षिप्त रूप स्थापना मुख्यालय
1 मध्य रेलवे मरे 1951 मुंबई
2 दक्षिण रेलवे दरे 1951 चेन्नई
3 पश्चिम रेलवे परे 1951 मुंबई
4 पूर्व रेलवे पूरे 1952 कोलकाता
5 उत्तर रेलवे उरे 1952 दिल्ली
6 पूर्वोत्तर रेलवे उपूरे 1952 गोरखपुर
7 दक्षिण- पूर्व रेलवे दपूरे 1955 कोलकाता
8 पूर्वोत्तर-सीमान्त रेलवे पूसीरे 1958 गुवाहाटी
9 दक्षिण- मध्य रेलवे दमरे 1966 सिकंदराबाद
10 पूर्व-मध्य रेलवे पूमरे 2002 हाजीपुर
11 उत्तर-पश्चिमी रेलवे उपरे 2002 जयपुर
12 दक्षिण-पश्चिमी रेलवे दपरे 2003 हुबली
13 उत्तर-मध्य रेलवे उमरे 2003 प्रयागराज
14 पूर्वी-तटीय रेलवे पूतरे 2003 भुबनेश्वर
15 पश्चिम-मध्य रेलवे पमरे 2003 जबलपुर
16 दक्षिण- पूर्वमध्य रेलवे दपूमरे 2003 बिलासपुर
17 कोंकण रेलवे केआर 1998 नवी मुंबई

भारतीय रेल से सम्बंधित विविध तथ्य –

  • भारतीय रेल का रेल संग्रहालय नई दिल्ली में है ।
  • भारतीय रेल का क्षेत्रीय रेल संग्रहालय मैसूर में है ।
  • सबसे ऊँचा रेल स्टेशन घूम (2258 मी.) है जो दार्जिलिंग में है ।
  • भारत का सबसे लम्बा प्लेटफ़ॉर्म गोरखपुर (1366.33 मी.) है ।
  • भारत तथा पाकिस्तान के बीच समझौता एक्सप्रेस (अटारी से लाहौर) 22 जुलाई 1976 को चलाई गई ।
  • भारत तथा बांग्लादेश के बीच मैत्री एक्सप्रेस 14 अप्रैल 2008 को आरंभ की गई ।
  • भारत की सबसे अधिक दूरी तय करने वाली ट्रेन विवेक एक्सप्रेस(4286 किमी.) है जो कन्याकुमारी और डिब्रूगढ़ के बीच चलती है ।
  • राजधानी एक्सप्रेस(1969)  इसे सर्वप्रथम दिल्ली से हावड़ा के बीच चलाया गया | यह भारत के मुख्य शहरों को सीधे राजधानी दिल्ली से जोड़ने वाली पुर्णतः वातानुकूलित रेल है, इसलिए इसे राजधानी एक्सप्रेस कहते है | इसे राजधानी भी भारत की सबसे तेज रेलगाड़ियो में शामिल है (रफ्तार लगभग 130-140 किमी प्रति घंटे) |
  • गतिमान एक्सप्रेस (5 अप्रैल 2016)– दिल्ली से आगरा के बीच 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली भारत की सबसे तेज रेल | यह हजरत निजामुद्दीन से आगरा की 188 किमी दूरी मात्र 100 मिनट में तय कर लेती है |
  • शताब्दी एक्सप्रेस (1988) पूर्णतयः वातानुकूलित इंटरसिटी रेल है भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस भारत की सबसे तेज रेलों में से एक है जो दिल्ली से हबीबगंज के बीच चलती है | ये रेलगाड़ी 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक पहुँच सकती है | यह केवल दिन में चलती है |
  • दुरंतो एक्सप्रेस (2009) यह एक नॉन स्टॉप रेल है यह भारत के मेट्रो शहरों और राज्यों की राजधानियों को आपस में जोडती है | इसकी रफ्तार लगभग राजधानी एक्सप्रेस के बराबर है |
  • विवेक एक्सप्रेस  स्वामी विवेकानंद की 150वी वर्षगांठ पर 2013 में शुरू की गई |
  • सुपरफ़ास्ट एक्सप्रेस लगभग 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली गाडियां सुपरफ़ास्ट गाड़ियाँ कहलातीं हैं
  • इंटरसिटी एक्सप्रेस  महत्वपूर्ण शहरों को आपस में जोड़ने के लिए छोटे रूट वाली गाड़ियाँ, इंटरसिटी एक्सप्रेस गाड़ियाँ कहलातीं हैं
  • राज्य रानी एक्सप्रेस राज्यों की राजधानियों को महत्वपूर्ण शहरों से जोडने वाली रेलगाड़ी राज्य रानी कहलातीं है ।
  • अन्त्योदय और जन साधारण एक्सप्रेस – पूर्ण रूप से अनारक्षित रेल
  • महामना एक्सप्रेस – आधुनिक सुविधाओं युक्त रेलगाड़ी
  • गरीब रथ पूर्ण  वातानुकूलित , गति अधिकतम 130 किमी प्रति घंटा , साधारण कोच से लेकर 3 टियर इकॉनमी बर्थ मिडिल क्लास लोग भी वातानुकुलित यात्रा का आनंद कम किराये में ले सकते हैं ।
  • हमसफर एक्सप्रेस पूर्ण रूप से वातानुकूलित 3 टियर AC कोच रेलगाड़ी है  ।
  • सम्पर्क क्रान्ति एक्सप्रेस, राजधानी दिल्ली से जोडती सुपर एक्सप्रेस रेलगाड़ी ।
  • जॉर्ज स्टीफेंसन को रेलवे का पितामह कहा जाता है ।