MP Current Affair 7th March 2019

ग्‍वालियर में बिटिया उत्‍सव का आयोजन

8 से 11 मार्च तक ग्वालियर में  चार दिवसीय ‘बिटिया उत्सव’ होगा। महिला बाल-विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी और सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया समारोह का शुभारंभ करेंगे।

वर्ष 2018-19 के कायाकल्प अवार्ड घोषित

इंदौर में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने वर्ष 2018-19 के कायाकल्प अवार्ड घोषित किये। जिला अस्पताल श्रेणी में जबलपुर को पहला पुरस्कार 21 लाख, जिला अस्पताल होशंगाबाद को द्वितीय पुरस्कार 10 लाख और जिला अस्पताल पन्ना एवं रतलाम को तृतीय पुरस्कार 5-5 लाख रूपये प्रदान किया जायेगा। सिविल और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्रेणी में सीहोर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इच्छावर को प्रथम पुरस्कार 15 लाख, झाबुआ जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामा को द्वितीय पुरस्कार 10 लाख और अलीराजपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कट्ठीवाडा को तृतीय पुरस्कार 5 लाख दिये जाएंगे। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बुढार जिला शहडोल, खिरकिया जिला हरदा और खुटार जिला सिंगरौली को तेजी से सुधार कार्य करने के लिए 2-2 लाख का पुरस्कार एवं 23 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को एक-एक लाख के सांत्वना पुरस्कार दिये जाएंगे। इसके साथ ही, 34 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को भी पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है।

प्रदेश में खुलेंगे 6 नये श्रमोदय विद्यालय

प्रदेश में 6 नये श्रमोदय विद्यालय रीवा, शहडोल, छतरपुर, गुना, छिन्दवाड़ा और रतलाम में खोले जायेंगे। यह श्रम विद्यालय निर्माण श्रमिकों के बच्चों को उत्कृष्ट शिक्षा सुलभ करवाने के उद्देश्य से खोले जा रहे हैं। इन विद्यालयों में निर्माण श्रमिकों के बच्चों को नि:शुल्क उत्कृष्ट शिक्षा प्रदाय की जायेगी।अ उल्लेखनीय है कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में पूर्व से ही श्रमोदय विद्यालय का निर्माण प्रक्रिया में है।

प्रदेश की  छठवीं खुली जेल का शुभारंभ

गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने भोपाल की केन्द्रीय जेल में प्रदेश की छठवीं खुली जेल का उद्घाटन किया। श्री बच्चन ने बताया कि होशंगाबाद, सतना, इंदौर, सागर एवं जबलपुर में खुली जेल का प्रयोग सफल रहा है।

स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण 2019 में मध्‍यप्रदेश को प्रथम पुरस्‍कार

वर्ष 2019 के स्वच्छ सर्वेक्षण में इंदौर को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इंदौर को लगातार तीसरे वर्ष इस पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया है। इसके साथ ही देश की स्वच्छ राजधानी की श्रेणी में मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल को प्रथम पुरस्कार और 03 से 10 लाख वाली आबादी के शहर की श्रेणी में उज्जैन को प्रथम पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। नवाचारों और बेस्ट प्रेक्टिस में जबलपुर शहर को श्रेष्ठ स्थान प्राप्त हुआ। यह पुरस्कार नई दिल्ली में विज्ञान भवन में आयोजित स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार समारोह में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद द्वारा प्रदान किये गये।मध्यप्रदेश को इस वर्ष स्वच्छ सर्वेक्षण के क्षेत्र में कुल 19 पुरस्कारों से नवाजा गया। नवाचार प्रयासों की श्रेणी के लिए इंदौर और उज्जैन और कचरा मुक्त शहर के लिए भी इंदौर को पुरस्कृत किया गया। इसके साथ ही शाहगंज नगर परिषद को पश्चिमी क्षेत्र में सबसे साफ नगर परिषद का सम्मान मिला है। मझौले शहरों की श्रेणी में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में नगर निगम देवास और नगरपालिका नागदा को सम्मानित किया गया है। कचरा मुक्त शहर की श्रेणी में नागदा, धार, खरगोन, कैमोर, शाहगंज नगर परिषदों को सम्मानित किया गया। इनके अलावा उज्जैन, देवास, सिंगरौली नगर निगम को भी स्वच्छता पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

March 7, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *