MP Current Affair 2nd May 2019

हीट एक्शन प्लान व रिसर्च के लिए प्रदेश से सागर का चयन

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ गांधीनगर गुजरात (आईआईपीएचजी) ने मध्यप्रदेश में हीट एक्शन प्लान व रिसर्च के लिए सागर का चयन किया है। टीम मई से जून माह तक शहर में अत्यधिक गर्मी यानी हीट ग्रोथ से होने वाली मौतों व इनको रोकने के उपायों पर रिसर्च करेगी। आईआईपीएचजी की टीम सागर में बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के पीएसएम विभाग व नगर निगम के साथ मिलकर काम करेगी। अहमदाबाद को 2013 में देश के पहले हीट एक्शन प्लान के लिए चुना गया था। हीट एक्शन प्लान में तीन तरह के अलर्ट जारी किए जाते हैं। पहला येलो यानी जब शहर का तापमान 40 से 43 डिग्री के बीच होने वाला हो, दूसरा ऑरेंज यानी जब शहर का तापमान 43 से 45 डिग्री के बीच होने वाला हो और तीसरा रेड अलर्ट। इसका मतलब जब तापमान 45 डिग्री या इससे अधिक बढ़ने वाला हो। इसके आधार पर ही एक्शन प्लान को तैयार कर लोगों को हीट स्ट्रोक से बचाने और गर्मी व लू से निपटने के उपाय किए जाते हैं।

ज्योतिषाचार्य सरमंडल पराविज्ञान सम्मेलन में सम्मानित

उज्जैन की ज्योतिष अर्चना सरमंडल को चिंतपूर्णी धाम जिला ऊना हिमाचल प्रदेश में आयोजित चतुर्थ अखिल भारतीय पराविज्ञान सम्मेलन में उनके ज्योतिष क्षेत्र में किए जा रहे उत्कृष्ट कार्यों को देखते हुए सम्मानित किया।

सिलिकोसिस की निगरानी के लिये राज्य स्तरीय समिति का गठन

प्रदेश में सिलिकोसिस बीमारी की निगरानी के लिये अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव श्रम विभाग की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समिति का गठन किया गया है। समिति के आठ सदस्य में अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव उद्योग नीति एवं निवेश प्रोत्साहन, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव अनुसूचित जाति एवं जनजातीय कार्य, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास, प्रमुख सचिव/सचिव खनिज साधन, राज्‍य प्रदूषण नियंत्रण मंडल के प्रतिनिधि एवं श्रम आयुक्त शामिल हैं ।यह समिति सिलिकोसिस से पीड़ित श्रमिकों की उपचार संबंधी व्यवस्था और उनके कल्याण के लिये क्रियान्वित योजनाओं की निगरानी करेगी । प्रत्येक तीन माह में समिति की बैठक होगी।

May 2, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *