MP Current Affair 29th June 2019

भोपाल/इन्दौर मेट्रो रेल के लिए त्रिपक्षीय करार

मंत्रि-परिषद द्वारा भोपाल एवं इन्दौर मेट्रो रेल के लिए केन्द्र शासन, राज्य शासन एवं मध्यप्रदेश मेट्रो रेल कम्पनी लिमिटेड के बीच त्रिपक्षीय करार (एमओयू) किये जाने की मंजूरी प्रदान की गई। राज्य शासन की ओर से मुख्य सचिव तथा मध्यप्रदेश मेट्रो रेल कम्पनी के मैनेजिंग डायरेक्टर को करार किये जाने के लिए अधिकृत किया गया।

‘मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज -2019’ का आयोजन

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा प्रदेश के 9 वीं से 12 वीं कक्षा तक अध्ययनरत बच्चों के लिये ‘मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज -2019’ का आयोजन किया जा रहा है। क्विज का उद्देश्य प्रदेश के समृद्ध इतिहास, परम्पराओं, ऐतिहासिक धरोहर, सांस्कृतिक रंगों, कला, प्राकृतिक समृद्धि, महापुरूषों, पर्यटन महत्व की संभावनाओं से परिचित कराने तथा सीखने की प्रक्रिया विकसित करना है। क्विज सभी 52 जिलों के शासकीय और अशासकीय स्कूलों में एक साथ जिला स्तर पर 7 अगस्त और राज्य स्तर पर 5 सितम्बर को होगी। प्रत्येक जिले की प्रथम 3 विजेता टीम को 2 रात 3 दिन तथा 3 उप-विजेता टीम को एक रात्रि दो दिन मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के होटलों में ठहरने के कूपन दिये जाएंगे। संबंधित पर्यटन स्थल तक लाना-लेजाना, भोजन, रूकना, स्थानीय भ्रमण आदि का व्यय मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड वहन करेगा।

सेज यूनिवर्सिटी को देश की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटीज में मिला चौथा स्थान

बेंगलुरु में आयोजित एजुकेशन वर्ल्ड रैंकिंग अवॉर्ड सेरेमनी में सेज यूनिवर्सिटी इंदौर का बेस्ट यूनिवर्सिटीज इन इंडिया की लिस्ट में चौथे नंबर पर रहा। साथ ही सेज यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन को देश का बेस्ट आठवां डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट का ख़िताब मिला।

मंत्रि-परिषद ने बार लायसेंस व्यवस्था में संशोधन किया

मंत्रि-परिषद ने पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से होटल बार लायसेंस व्यवस्था में संशोधन किया गया है। इसके तहत एक से अधिक तल पर रेस्तरां बार संचालित करने की अनुमति के लिए प्रत्येक अतिरिक्त बार के लिए 10 प्रतिशत अधिक लायसेंस फीस ली जाएगी। नवीन होटल बार लायसेंस के लिए होटल में कम से कम 25 कमरे होने का प्रावधान किया गया है। बार लायसेंस के लिए मदिरा की निर्धारित धारण क्षमता में 25 प्रतिशत की वृद्धि की गई। मंत्रि-परिषद ने रिसोर्ट बार (एफ.एल.3क) लायसेंस के लिए निर्धारित मापदण्डों में संशोधन एवं वन्य पर्यटन क्षेत्रों के अतिरिक्त अन्य पर्यटन क्षेत्रों में लायसेंस स्वीकृत किये जाने का निर्णय लिया गया। होटल बार (एफ.एल.3) रिसोर्ट बार (एफ.एल.3क), सिविलियन क्लब बार (एफ.एल.4) और व्यवसायी क्लब(एफ.एल.4ए) लायसेंसी को 15 प्रतिशत अतिरिक्त राशि जमा कराकर परिसर में अन्यत्र मदिरा की सुविधा उपलब्ध कराये जाने की मंजूरी दी गई। इसके अतिरिक्त, विशिष्ट श्रेणी के होटलों के समान होटल बार एवं क्लब लायसेंस को विदेशी मदिरा भण्डागार से मदिरा प्रदाय की सुविधा की स्वीकृति दी गई। साथ ही समुचित राजस्व सुनिशिचत करने के लिए बार लायसेंसों के लिए वेट एवं जीएसटी के अन्तर्गत पंजीकृत होने की शर्त एवं उसकी देयता  अनिवार्य होगी।

राष्ट्रीय गोताखोरी स्पर्धा में पलक को लगातार दूसरा स्वर्ण, प्रीति, प्रखर और तितिक्षा को भी पदकीय सफलता

मध्यप्रदेश के गोताखोरों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय गोताखोरी स्पर्धा के दूसरे दिन चार पदक हासिल किए। राजकोट में खेली जा रही स्पर्धा में मध्यप्रदेश की पलक शर्मा ने लगातार दूसरा स्वर्ण पदक जीता। इसके अलावा प्रीति शर्मा, प्रखर जोशी और तितिक्षा मराठे ने भी पदकीय सफलता हासिल की। प्रखर जोशी का भी यह दूसरा पदक है। 3 मीटर स्प्रिंग बोर्ड बालिका ग्रुप-3 में पलक शर्मा ने 296 अंक के साथ स्वर्ण, मप्र की प्रीति ने 246.6 अंक हासिल कर रजत पदक जीता। बालक ग्रुप-2 में आर्मी के प्रेमसन मैथेई ने 278 अंक लेकर स्वर्ण, महाराष्ट्र के श्रीकांत कोंडाले ने 250.25 अंक के साथ रजत और मप्र के प्रखर ने 248.65 अंक अर्जित कर कांस्य पदक हासिल किया। बालिका ग्रुप-1 में गुजरात की आशना गुप्ता (230 अंक) ने पहला, मप्र की तितिक्षा मराठे (221.35 अंक) ने दूसरा और महाराष्ट्र की बिलवा गिरम (201.74 अंक) ने तीसरा स्थान अपने नाम किया।

June 29, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *