MP Current Affair 23rd February 2019

ट्रॉयबल अफेयर्स ऑटोमेशन सिस्टम का शुभारंभ 23 फरवरी को

23 फरवरी को मिन्टो हॉल में जनजातीय कार्य मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम मध्यप्रदेश ट्रॉयबल अफेयर्स ऑटोमेशन सिस्टम के डीबीटी भुगतान मॉडयूल का शुभारंभ करेंगे।

सार्वजनिक स्थलों एवं परियोजनाओं का नामकरण महापुरूषों के नाम पर करने के लिए जिला स्तरीय समितियों का पुनर्गठन

मध्‍यप्रदेश शासन ने राष्ट्रीय स्तर के प्रसिद्ध महापुरूषों के नाम पर शासकीय भवनों, सार्वजनिक स्थलों एवं परियोजनाओं का नामकरण करने के लिए गठित जिला स्तरीय समितियों का पुनर्गठन किया है। समिति के अध्यक्ष जिले के प्रभारी मंत्री होंगे। पुनर्गठित समिति में अन्य सदस्यों के रूप में स्थानीय सांसद अथवा उनके प्रतिनिधि, जिले के समस्त विधायक, चाहे उनमें से कोई शासन में मंत्री हीं क्यों न हो, उन्हें सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। समिति में अन्य सदस्यों में स्थानीय निकायों के अध्यक्ष/महापौर, विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष को भी शामिल किया गया है। समिति के सदस्य संयोजक संबंधित जिला कलेक्टर होंगे।

हमीदिया अस्पताल में प्रदेश की पहली वायरोलॉजी लैब और मल्टी लेवल पार्किंग का लोकार्पण 23 फरवरी को

23 फरवरी को चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ भोपाल के हमीदिया अस्पताल में प्रदेश की पहली वायरोलॉजी लैब और मल्टी लेवल पार्किंग का लोकार्पण करेंगी।

इन्दौर में ”रेरा में संशोधनों ” विषय पर प्रदेश स्तरीय संगोष्ठी संपन्‍न

इन्‍दौर में  ’’रेरा में संशोधनों ’’ विषय पर हुई भारतीय चार्टर्ड एकाउटेंट एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। रेरा अध्यक्ष श्री अन्टोनी डिसा ने संगोष्‍ठी को संबोधित किया और कहा कि रेरा-एक्ट के क्रियानवयन में चार्टर्ड एकाउटेंट्स की महत्पवूर्ण भूमिका है। एक्ट की धारा 56 में चार्टर्ड एकाउटेंट को किसी संप्रवर्तक, एजेंट के प्रतिनिधित्व करने का अधिकार प्रदान किया गया है। इसके अंतर्गत वे प्राधिकरण से संबंधित सभी प्रकरणों में पक्ष-प्रस्तुति कर सकते हैं।

जबलपुर में प्रदेश के सबसे बड़े फ्लाई ओवर ब्रिज का शिलान्यास

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने जबलपुर में प्रदेश के सबसे बड़े फ्लाई ओव्हर ब्रिज का शिलान्यास किया। प्रदेश के लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस फ्लाई ओवर ब्रिज की लंबाई करीब 6 किलोमीटर है। इस एलीवेटेड कॉरीडोर फ्लाई ओवर ब्रिज का निर्माण केन्द्रीय सड़क निधि के 758 करोड़ 54 लाख रूपये की लागत से किया जा रहा है।

February 23, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *