Current Affair 13th February 2019

पांचवां अंतर्राष्ट्रीय बांध सुरक्षा सम्मेलन भुवनेश्वर में

भारत सरकार, ओडिशा सरकार और विश्व बैंक की संयुक्त पहल के रूप में पांचवां अंतर्राष्ट्रीय बांध सुरक्षा सम्मेलन भुवनेश्वर आयोजित किया जा रहा है। यह सम्‍मेलन 13 से 14 फरवरी तक चलेगा। संस्थागत मजबूती के तौर पर विश्व बैंक की सहायता से बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना (डीआरआईपी) चलाई जा रही है। गैर-डीआरआईपी राज्यों सहित विभिन्न डीआरआईपी राज्यों में सभी हितधारकों के लिए एक साझा मंच उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष बांध सुरक्षा सम्मेलन आयोजित किये जाते हैं।

फरीदाबाद में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज राष्‍ट्र को समर्पित

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने फरीदाबाद में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और 510 बिस्‍तरों वाला अस्‍पताल राष्‍ट्र को समर्पित किया। यह मेडिकल कॉलेज इस क्षेत्र के कामगारों और उनके परिवार के सदस्‍यों को चिकित्‍सा सुविधाएं प्रदान करेगा।

मी‍डिया इकाइयों का पहला सम्‍मेलन आयोजित

राजधानी दिल्ली के विज्ञान भवन में मीडिया इकाइयों के पहले वार्षिक सम्मेलन का आयोजन किया गया! आयोजन में देश भर के भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी शामिल हुए। सम्मेलन में सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ और मंत्रालय के सचिव अमित खरे भी उपस्थित रहे।

सिनेमेटोग्राफ (संशोधन) विधेयक 2019 राज्‍यसभा में पेश

सिनेमेटोग्राफ (संशोधन) विधेयक 2019 राज्‍यसभा में पेश किया गया। इस विधेयक में सिनेमेटोग्राफ कानून 1952 के प्रावधानों में संशोधन की व्‍यवस्‍था है, जिससे गैर-कानूनी कैमकॉडिंग और फिल्‍मों के डुप्‍लीकेशन के लिए दंड प्रावधानों को शामिल करके फिल्‍म पायरेसी को रोका जा सके।

आंध्र प्रदेश में मेगा एक्वा फूड पार्क की शुरूआत

केन्द्रीय मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के भीमावरम मंडल में स्थित टुंडुरू गांव में गोदावरी मेगा एक्वा फूड पार्क की शुरूआत की। मैसर्स गोदावरी मेगा एक्वा फूड पार्क प्राइवेट लिमिटेड इस फूड पार्क को विकसित कर रहा है। यह आंध्र प्रदेश में स्थित पहला मेगा एक्वा फूड पार्क है, जो मछली और समुद्री उत्पादों के प्रसंस्करण के लिए स्थापित किया गया है।

अम्ब्रेला प्रोग्राम की उप-योजनाओं को मार्च 2020 तक जारी रखने की मंजूरी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने अनुसूचित जनजाति के विकास से संबंधित वृहत कार्यक्रम (अम्ब्रेला प्रोग्राम) की उप-योजनाओं को 01 अप्रैल, 2017 से 31 मार्च, 2020 तक जारी रखने की मंजूरी दी।मंजूर की गई योजनाओं में शामिल हैं:-

  1. पूर्व मैट्रिक छात्रवृत्ति
  2. मैट्रिक के बाद की छात्रवृत्ति
  3. आश्रम विद्यालय
  4. लड़के और लड़कियों के छात्रावास
  5. व्यावसायिक शिक्षा
  6. निगरानी और मूल्यांकन
  7. जनजातीय त्यौहार, जनजातीय शोध, सूचना और व्यापक शिक्षा
  8. अनुसूचित जनजातियों के कल्याण के लिए कार्य कर रहे स्वयंसेवी संगठनों को वित्तीय सहायता प्रदान करना
  9. विशेषकर कमजोर जनजातीय समूहों (पीवीटीजी) का विकास
  10. लघु वन उत्पाद (एमएफपी) के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य
  11. जनजातीय उप-योजनाओं (टीएसएस) के लिए राज्यों को विशेष केन्द्रीय सहायता (एससीए)

छत्‍तीसगढ़ की अनुसूचित जनजातियों (एसटी) की सूची में संशोधन को मंजूरी

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने छत्‍तीसगढ़ की अनुसूचित जनजातियों (एसटी) की सूची में संशोधन करने के लिए संशोधन विधेयक-2016 में संशोधन करने के प्रस्‍ताव को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी है। छत्‍तीसगढ़ की अनुसूचित जनजातियों की सूची में निम्‍नलिखित परिवर्तन किए जायेंगे:-

  1. प्रविष्‍टि‍ 5 में, ‘’भारिया भूमिया’’ के बाद ‘’भुईंया, भूईयान,भूयान’’ को शामिल किया जायेगा
  2. प्रविष्टि 14 के लिए बदले में निम्‍नलिखित प्रविष्टि डाली जायेंगी। ‘’14. धनवार, धनुहर, धनुवार’’ 
  3. प्रविष्टि 32 और 33 के लिए बदले में निम्‍नलिखित प्रविष्टियां डाली जायेंगी:-‘’32. नगेसिया, नागासिया,किसान 33. ओरांव, धानका, धनगढ़’’
  4. प्रविष्टि 41 के लिए बदले में निम्‍न प्रविष्टि होगी ‘’ 41 सवर, संवारा, सोनरा, साओनरा’’, और
  5. प्रविष्टि 42 के बाद निम्‍नलिखित प्रविष्टि को शामिल किया जाएगा-‘’43.बिनझिया’’

भारत-जर्मन पर्यावरण सम्मेलन नई दिल्ली में आयोजित

नई दिल्ली में तीसरा भारत-जर्मन पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इसका उद्घाटन केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने किया। इसका मूल विषय‘स्वच्छ वायु, हरित अर्थव्यवस्था’ है। इस कार्यक्रम में सामूहिक विचार-विमर्श और समानान्तर अधिवेशनों के माध्यम से वायु प्रदूषण नियंत्रण, कचरा प्रबंधन की चुनौतियों, समाधानों और आवश्यक कार्यक्रमों के साथ-साथ क्रमशः पेरिस समझौते तथा संयुक्त राष्ट्र का एजेंडा 2030 पर आधारित एनडीसी और एसडीजी के कार्यान्वयन पर जोर दिया जाएगा।

भारतीय इतिहासकार संजय सुब्रमण्यम को इज़राइल के प्रतिष्ठित डेन डेविड पुरस्कार

भारतीय इतिहासकार संजय सुब्रमण्यम को इज़राइल के प्रतिष्ठित डेन डेविड पुरस्कार दिया जायेगा। प्रारंभिक आधुनिक युग के दौरान एशियाई, यूरोपीय और उत्तर एवं दक्षिण अमेरिका के लोगों के बीच अंतर-सांस्कृतिक संपर्क पर काम के लिए उन्हें इस साल के डेव डेविड पुरस्कार के लिए चुना गया है। इज़रायल के इस डेन डेविड पुरस्कार से विश्वभर के उन लोगों को सम्मानित किया जाता है जिन्होंने विज्ञान, टेक्नोलॉजी और मानवतावाद के क्षेत्र में काफी अहम उपलब्धियों हासिल की हो। इस इज़रायली अवार्ड के साथ इतिहासकारों को 10 लाख अमेरिकी डॉलर भी दिए जाएंगे। संजय सुब्रमण्यम अपने अवार्ड को शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर केनेथ पोमेरांज के साथ साझा करेंगे। वर्ष 2000 में 100 मिलियन डॉलर की राशि के साथ इज़राइली बिजनेसमैन एवं समाजसेवी डेन डेविड द्वारा डेन डेविड फाउंडेशन की शुरुआत की गई। इस संस्था के सह-संस्थापक एवं पहले निदेशक प्रोफेसर गैडबर्ज़िलाई थे।

जेमी चाडविक एमआरएफ चैलेंज ख़िताब जीतने वाली पहली महिला

इंग्लैंड की जेमी चाडविक चेन्नई में आयोजित एमआरएफ चैलेंज जीतकर कर खिताब जीतने वाली पहली महिला ड्राइवर बन गई हैं।

February 14, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *