MP Current Affair 12th February 2019

भोपाल और उज्जैन को स्मार्ट सिटी डिजिटल पेमेंट अवार्ड-2018

भारत सरकार के शहरी एवं आवास मंत्रालय द्वारा दिए जाने स्मार्ट सिटी डिजिटल पेमेंट अवार्ड-2018 के लिए वाले भोपाल और उज्जैन को चुना गया है। बेस्ट डिजिटल पेमेंट एडाप्टर केटेगरी में 5 से 10 लाख आबादी के शहरों में उज्जैन और 10 लाख से अधिक आबादी के शहरों में भोपाल का चयन किया गया है। उज्जैन को बेस्ट डिजिटल पेमेंट इनोवेटर और फास्टेस्ट ग्रोइंग स्मार्ट सिटी फोकसिंग ऑन डिजिटल पेमेंट्स केटेगरी में भी अवार्ड के लिये चयनित किया गया है।

भारत भवन की 37वीं वर्षगाँठ पर 13 से 20 फरवरी तक

13 से 20 फरवरी तक भारत भवन की 37वीं वर्षगाँठ पर देश-विदेश में ख्यातिलब्ध कलाकारों द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किये जायेंगे। समारोह बुधवार 13 फरवरी को कला प्रदर्शिनियों के शुभारंभ से शुरू होगा। कार्यक्रम का आयोजन निम्‍नानुसार किया जायेगा:

13 फरवरी : कला प्रदर्शिनी, मंगलाचरण और उस्ताद जाकिर हुसैन का तबला वादन।

14 फरवरी : सुश्री शमा भाटे की कथक प्रस्तुति।

15 फरवरी : आरूषि के कलाकारों द्वारा गायन वादन और संस्कृति विभाग की संगीत नृत्य प्रस्तुतियाँ।

16 फरवरी : कहानी पाठ,

17 फरवरी : कविता पाठ।

18 फरवरी : दो बीघा जमीन,

19 फरवरी : तीसरी कसम फिल्म का प्रदर्शन।

20 फरवरी : ‘तुगलक’ नाटक का मंचन।

“अर्बन डायलाग्‍स-रिइमेजनिंग भोपाल” पर संगोष्ठी आयोजित

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने यह बात “अर्बन डायलाग्‍स-रिइमेजनिंग भोपाल” पर संगोष्ठी में कहा कि भोपाल शहर के विकास के प्लान में इस बात का ध्यान रखा जाये कि शहर के प्राकृतिक सौंदर्य में और अधिक निखार आये। उन्‍होंने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में निरंतर हो रहे विकास को देखते हुए भोपाल शहर के लिये नया मास्टर-प्लॉन बनाया जाना समसामयिक होगा। श्री सिंह ने कहा कि शहर के सभी परिवहन साधनों को एक-दूसरे से जोड़ा जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि मेट्रो रेल के साथ ही मोनो रेल, बस परिवहन, रोप-वे को साथ में जोड़ें। इसके साथ ही एक ही कार्ड से सभी प्रकार के परिवहन में सुविधा मिले।

प्रशासन अकादमी में राष्ट्रीय सेमीनार आयोजित

विधि-विधायी एवं जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने ‘भारतीय संसदीय लोकतंत्र का बदलता स्वरूप” विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सेमीनार को संबोधित किया और संबोधित करते हुए कहा कि पं. कुंजीलाल दुबे राष्ट्रीय संसदीय विद्यापीठ को अंतर्राष्ट्रीय-स्तर का बनायेंगे।

तेन्दूपत्ता संग्राहकों की पारिश्रमिक दर में 500 रुपये प्रति मानक बोरा की वृद्धि

राज्य शासन ने तेन्दूपत्ता संग्राहकों की पारिश्रमिक दर में 500 रुपये प्रति मानक बोरा की वृद्धि करने का फैसला लिया है। अब संग्राहकों को 2000 रुपये के स्थान पर 2500 रुपये प्रति मानक बोरा पारिश्रमिक का भुगतान किया जायेगा। संग्राहकों को पारिश्रमिक और बोनस का नगद भुगतान किया जायेगा।

February 13, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *