Current Affair 11th February 2019

कुरुक्षेत्र में स्वच्छ शक्ति 2019 का शुभारंभ 12 फरवरी को

प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी 12 फरवरी, 2019 को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में  स्वच्छ शक्ति 2019 सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे और स्वच्छ शक्ति-2019 पुरस्कार वितरित करेंगे। स्वच्छ शक्ति -2019 एक राष्ट्रीय आयोजन है, जिसका उद्देश्य स्वच्छ भारत मिशन में ग्रामीण महिलाओं द्वारा निभाई गई नेतृत्वकारी भूमिका पर प्रकाश डालना है। पूरे देश की महिला सरपंच और पंच इस कार्यक्रम में शामिल होंगी। पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय, हरियाणा सरकार के साथ मिलकर स्‍वच्‍छ शक्ति 2019 का आयोजन कर रहा है।

क्विंसी जोन्‍स ने जीता 28वां ग्रैमी

अमेरिकी संगीतकार व रिकॉर्ड प्रोड्यूसर क्विंसी जोन्‍स 28वां ग्रेमी अवार्ड जीतकर सर्वाधिक ग्रैमी जीतने वाले बन गए हैं। जोन्‍स की बेटी राशिदा ने भी अपना पहला ग्रैमी जीता। क्विंसी जोन्‍स पर बनी डॉक्‍यूमेंट्री ‘क्विंसी’ ने 2019 ग्रैमी अवार्ड्स प्रीमियर सेरेमनी में सर्वश्रेष्‍ठ संगीत फिल्‍म का पुरस्‍कार जीता।

भारत में किसानों की जलवायु संबंधी जोखिमों के प्रबंधन के लिए कृषि मौसम विज्ञान में प्रगति पर  तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन

कृषि मौसम वैज्ञानिकों के संघ (एएएमए) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली में “भारत में किसानों की जलवायु संबंधी जोखिमों के प्रबंधन के लिए कृषि मौसम विज्ञान में प्रगति” विषय पर (आईएनएजीएमईटी-2019) तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन का आज शुभारंभ किया। इसका आयोजन भारतीय मौसम विभाग, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान और जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय ने मिलकर किया है।

 संगोष्ठी के प्रमुख विषय इस प्रकार हैं-

· कृषि क्षेत्र के लिए मौसम और जलवायु से जुड़ी सेवाएं

· मानसून की भिन्‍नता तथा अनुमान

· जलवायु में अस्थिरता तथा बदलाव : पूर्वानुमान , प्रभाव और कृषि प्रणालियों के लिए हस्‍तक्षेप

· कृषि मौसम प्रणालियों के लिए कृषि मौसम संबंधी जानकारी और भू-स्थानिक निर्णय समर्थन प्रणाली व्यवस्था

· जोखिम हस्‍तांतरण  : मौसम और फसल बीमा

· फसल बाद प्रबंधन और कृषि विपणन

· कृषि में जैव कृषि और दबाव प्रबंधन स्थानांतरण

· कृषि मौसम संबंधी सलाह के परिप्रेक्ष्य

· फसल मॉडल और भविष्‍यवाणी

· कृषि के लिए जल चक्र और पानी के उपयोग की दक्षता

· कृषि मौसम विज्ञान सेवाओं के विस्तार के लिए उद्योग इंटरफ़ेस

· मवेशियों,पोल्‍ट्री और मत्‍स्‍य पालन प्रंबधन के हस्‍तक्षेप

12 से 18 फरवरी 2019 तक राष्‍ट्रीय उत्‍पादकता सप्‍ताह का आयोजन

12 फरवरी को राष्‍ट्रीय उत्‍पादकता परिषद (एनपीसी) अपना 61वां स्‍थापना दिवस मना रही है। इस वर्ष का विषय ‘उत्‍पादकता और स्थिरता के लिए सर्कुलर अर्थव्‍यवस्‍था’ है। एनपीसी अपने स्‍थापना दिवस को उत्‍पादकता दिवस के रूप में मनाती है और यह 12 से 18 फरवरी 2019 तक राष्‍ट्रीय उत्‍पादकता सप्‍ताह का भी आयोजन कर रही है। इस वर्ष का विषय उपयोग को आवृत्ति बनाने के लिए सर्कुलर व्‍यापार मॉडल के लिए एक विशिष्‍ट अवसर का प्रतिनिधित्‍व करता है।

नई दिल्‍ली में यूनानी चिकित्सा पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन

नई दिल्‍ली में यूनानी चिकित्सा पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन  मणिपुर की राज्यपाल डॉ. नजमा हेपतुल्ला ने किया । सम्मेलन का विषय  ‘सार्वजनिक स्वास्थ्‍य के लिए यूनानी चिकित्सा’ है। इस सम्‍मेलन का आयोजन सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन यूनानी मेडिसिन (सीसीआरयूएम) द्वारा यहां तीसरे यूनानी दिवस समारोह के अंग के रूप में किया गया है।

जॉन मॉरिस अजाक्स फायर इंजन ने जीती स्‍टेट्समैन 53वें संस्‍करण की विंटेज कार रैली में स्टेट्समैन चैलेंजर ट्रॉफी

जॉन मॉरिस अजाक्स फायर इंजन ने स्‍टेट्समैन 53वें संस्‍करण की विंटेज कार रैली में भाग लिया है और इसे स्टेट्समैन चैलेंजर ट्रॉफी से पुरस्‍कृत किया गया है। प्रथम विश्‍व युद्ध से पूर्व के विंटेज ब्‍लेसाइज चेसिस (1914) पर जॉन मॉरिस अजाक्स फायर इंजन भारतीय रेलवे की गौरवमयी संपत्ति है। इसे राष्‍ट्रीय रेल संग्रहालय दिल्‍ली में संरक्षित किया गया है।

डीलर स्वामित्व डीलर परिचालित (डीओडीओ) मॉडल का शुभारम्भ

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान ने सीएनजी स्टेशनों की स्थापना के लिए डीलर स्वामित्व डीलर परिचालित (डीओडीओ) मॉडल का शुभारम्भ किया। योजना के तहत सीजीडी गतिविधियों के विवेक पर निर्धारित डीलर प्लॉट को विशेष रूप से सीएनजी स्टेशन की स्थापना और उससे संबंधित वाणिज्यिक गतिविधियों के लिए विकसित किया जाएगा। योजना के अंतर्गत, अधिकृत 23 संस्थाओं द्वारा सेवित 87 भौगोलिक क्षेत्रों को कवर किया जाएगा।

एनडीएमए मंगलूरू  में सीबीआरएन अपात स्थितियों के बारे में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) मंगलूरू के न्‍यू मंगलौर पोर्ट ट्रस्‍ट में एक बुनियादी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम पांच दिन तक चलेगा। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्‍य बंदरगाहों में सीबीआरएन आकस्मिक स्थितियों में सहायता के लिए सी-पोर्ट इमरजेंसी हैंडलर्स (एसईएच) की तैयारी को बढ़ाना है। ऐसे कार्यक्रमों की श्रृंखला में यह पहला कार्यक्रम है, जो पूरे देश में विभिन्‍न बंदरगाहों पर आयोजित किया जाएगा, ताकि एसईएच को विशेष मोचन दलों के आने तक उचित मदद करने में समर्थ बनाया जा सके। सीबीआरएन आकस्मिक स्थितियां रसायन, जैविक, रेडियोलॉजिकल और परमाणु सामग्री के उपयोग से पैदा हुए खतरों से संबंधित हैं। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम भारतीय बंदरगाह संघ (आईपीए), इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज (आईएनएमएएस) और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम किसी भी सीबीआरएन की आपातकाल स्थिति को संभालने में एसईएच को सक्षम बनाकर हमारे बंदरगाहों पर सीबीआरएन सुरक्षा में सुधार लाएगा।

बेंगलूरू में सीएमआर विश्‍वविद्यालय कैम्‍पस का उद्घाटन

10 फरवरी को उपराष्‍ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडु ने  बेंगलूरू में सीएमआर विश्‍वविद्यालय कैम्‍पस का उद्घाटन किया। श्री एम वेंकैया नायडु ने कहा है कि गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा गरीबी कम करने, लैंगिक समानता प्राप्‍त करने और रोजगार के अवसरों का सृजन करने के लिए सबसे प्रभावी उपायों में एक है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय मूल्‍यों की शिक्षा देने के लिए पाठ्यक्रमों में बदलाव किया जाना चाहिए तथा कक्षाओं को आनंदपूर्ण शिक्षा प्राप्ति केंद्र के रूप में परिवर्तित किया जाना चाहिए। उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि सीएमआर जैसे शैक्षणिक संस्‍थानों और शिक्षकों को नवाचार पर जोर देना चाहिए तथा बच्‍चों में वैज्ञानिक सोच की भावना को विकसित करना चाहिए। इन प्रयासों से 21वीं सदी की समस्‍याओं को दूर करने में सहायता मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने अल्प सुविधा प्राप्त स्‍कूली बच्‍चों को तीन अरबवीं भोजन थाली परोसी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वृंदावन चंद्रोदय मंदिर में अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा तीन अरबवीं भोजन थाली परोसे जाने के अवसर पर पट्टिका का अनावरण किया। प्रधानमंत्री ने अल्प सुविधा प्राप्त स्‍कूली बच्‍चों को तीन अरबवीं भोजन थाली परोसी। उन्होंने इस्कॉन के आचार्य श्री प्रभुपाद् के विग्रह को भी पुष्पांजलि अर्पित की।

विश्‍व सतत विकास सम्‍मेलन 2019 का उद्घाटन

उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने विश्‍व सतत विकास सम्‍मेलन 2019  का उद्घाटन किया। इसका आयोजन एनर्जी एंड रिसर्च इंस्‍टीट्यूट, टेरी द्वारा किया जा रहा है। श्री नायडू ने सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि समावेशी विकास टिकाऊ विकास पर केन्द्रित है। टिकाऊ कृषि, टिकाऊ शहरीकरण, टिकाऊ ऊर्जा सुरक्षा, टिकाऊ स्‍वच्‍छ ऊर्जा, टिकाऊ कचरा प्रबंधन, टिकाऊ वन्‍य जीव संरक्षण और टिकाऊ हरित पहलें इसमें ही समाहित हैं।

February 12, 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *