मध्‍यप्रदेश सामान्‍य परिचय |MPGK |PSC, PEB

मध्‍यप्रदेश का सामान्‍य परिचय

भारत के केन्द्र में स्थित मध्यप्रदेश देश का हृदयस्थल कहलाता है। इसे हृदय प्रदेश की संज्ञा पं. जवाहर लाल नेहरू ने दी थी। भू-वैज्ञानिक दृष्टि से यह भारत का प्राचीनतम भाग है।  

राज्यों के पुर्नगठन आयोग (अध्‍यक्ष – फजल अली, सदस्‍य – पं. हृदयनाथ कुंजरू व डॉ. के. एम. पाणिक्‍कर) की सिफारिश के फलस्वरूप 1 नवंबर, 1956 को मध्‍यप्रदेश राज्य का निर्माण हुआ। इस प्रदेश का निर्माण भाषायी आधार पर किया गया था । इसमें सीपी और बरार से बुल्‍ढ़ाना, अकोला, अमरावती, यवतमाल, वर्धा, नागपुर, भंडारा, चादा को छोड़कर शेष सी.पी. (सेन्ट्रल प्राविन्स ) और बरार, मध्‍य भार‍त के मन्‍दसौर जिले के भानपुरा तहसील के सुनेल टप्‍पा को छोड़कर संपूर्ण मध्‍य भारत, विन्ध्य प्रदेश, भोपाल, राजस्‍थान के कोटा जिले के सिरोंज (विदिशा में) उपखण्‍ड को शामिल किया गया।

भोपाल को इसकी राजधानी बनाया गया। इसमें गठन के समय 43 जिले थे। इसे पहले मध्य भारत के नाम से भी जाना जाता था। इस भूखण्‍ड को गोंडवाना महाद्वीप का हिस्‍सा कहा गया है। मध्‍यप्रदेश पूर्णत: भूआवेष्ठित प्रदेश है और इसका ढाल उत्‍तरमुखी है।

1 नवंबर 2000 को मध्‍यप्रदेश का पुनर्गठन कर छत्‍तीसगढ़ राज्‍य की स्‍थापना की गई। पुनर्गठन के समय मध्‍यप्रदेश में जिलों की संख्‍या 61 थी। पुनर्गठन में 16 जिले छत्‍तीसगढ़ को दिए गए जिसके परिणामस्‍वरूप जिलों संख्‍या 45 रह गई। छत्‍तीसगढ़ के गठन के पूर्व मध्‍यप्रदेश क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्‍य था। वर्तमान में मध्‍यप्रदेश क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्‍य है। जनसंख्‍या की दृष्‍टि से 2011 की जनगणना में मध्‍यप्रदेश देश का छठवां बड़ा राज्‍य था। तेलंगाना के गठन के पश्‍चात् मध्‍यप्रदेश देश का पांचवा सबसे बड़ा राज्‍य बन गया है।

राज्‍य का नाममध्‍यप्रदेश
राज्‍य का गठन01 नवंबर 1956
राज्‍य का पुनर्गठन01 नवंबर 2000
राज्‍य दिवस01 नवंबर
अन्‍य नाम  टाइगर स्‍टेट, सोया स्‍टेट, मध्‍यभारत, नदियों का मायका, लघुभारत, सेन्‍ट्रल प्रोविन्‍सेस और बरार
राजधानीभोपाल
क्षेत्रफल308252 वर्गकिमी (देश के कुल क्षे.का 9.38%)  
भौगोलिक स्थिति21°6´ उत्तरीअक्षांश से 26°30´ उत्तरी अक्षांश तथा 74°59´ पूर्वी देशांतर से 82°66´ पूर्वी देशांतर के मध्य
राज्‍य की सीमा से लगे राज्‍यों का संख्‍या5 (राजस्थान ,उप्र.,छत्तीसगढ़ ,महाराष्ट्र एवं गुजरात )
जनसंख्‍या                   72597565 (देश की जनसंख्‍या का लगभग 6%)
जलवायुसमशीतोष्‍ण मानसूनी
मुख्‍य भाषाहिन्‍दी
राजकीय चिन्‍ह  24 स्‍तूप आकृति के अंदर एक वृत्‍त है, जिसमें गेहूँ और धान की बालियॉ अंकित हैं।
राजकीय फसलसोयाबीन
राजकीय वृक्षबरगद (वट वृक्ष)
राजकीय पुष्‍पसफेद लिली
राजकीय पशुबारहसिंगा
राजकीय पक्षीदूधराज या शाह बुल बुल (पैराडाइज फ्लाईकैचर)  
राजकीय मछलीमहाशीर
राजकीय गानसुख का दाता, सबका साथी (महेश श्रीवास्‍तव)  
राजकीय नाट्यमाचा
राजकीय नृत्‍यराई
प्रथम मुख्‍यमंत्रीपंडित रविशंकर शुक्‍ल
प्रथम महिला मुख्‍यमंत्रीसुश्री उमा भारती
प्रथम गैर कांग्रेसी मुख्‍यमत्री    कैलाश जोशी
प्रथम राज्‍यपालडॉ. पट्टाभि सीतारमैया
प्रथम महिला राज्‍यपालसुश्री सरला ग्रेवाल
प्रथम आदिवासी महिला राज्‍यपालउर्मिला सिंह
प्रथम मुख्‍य न्‍यायाधीशमो. हिदायतुल्‍ला
प्रथम महिला न्‍यायाधीशसरोजनी सक्‍सेना
प्रथम विधानसभा अध्‍यक्षकुंजीलाल दुबे
प्रथम विधानसभा उपाध्‍यक्षविष्‍णु विनायक सरवटे
प्रथम मुख्‍य सचिवएच. एस. कामथ
प्रथम महिला मुख्‍य सचिवनिर्मला बुच
प्रथम विपक्ष का नेताविष्‍णुनाथ तामस्‍कर
विपक्ष की प्रथम महिला नेताजमुना देवी
प्रथम महिला आईएएसनिर्मला बुच
प्रथम महिला आईपीएसकु. आशा गोपाल
प्रथम पुलिस महानिदेशकवी. पी. दुबे
प्रथम पुलिस महानिरीक्षकबी. जी. घाटे
राज्‍यसभा सीटें11
लोकसभा सीटें29
लोकसभा सीटें (अनुसूचित जाति)4  
लोकसभा सीटें (अनुसूचित जनजाति)   6
विधानसभा सीटें230
विधानसभा सीटें (अनुसूचित जाति) 35
विधानसभा सीटें (अनुसूचित जनजाति)47
जिले52
संभाग10
नगरनिगम (2018-19)16
नगरपालिकाऍं98
नगरपरिषद्294
कुल विकासखण्‍ड          313 (आदिवासी विकासखण्‍ड सहित)
आदिवासी विकासखण्‍ड (2018-19)  89
कुल नगर/शहर (जनगणना – 2011)    476
तहसीलें (जनवरी 2019)424
कुल ग्राम                      54903
राजस्‍व ग्राम (जनगणना – 2011) 53738
जिला पंचायत52
जनपद पंचायत313
ग्राम पंचायत (वर्ष 2018-19)23922

******‘मध्यप्रदेश सामान्य ज्ञान‘ से सम्बंधित विगत वर्षों में विभिन्न परीक्षाओं (MPPSC , MPSI ,पटवारी इत्यादि) में पूछे गए महत्त्वपूर्ण प्रश्नों का संग्रह विल्कुल मुफ्त – लिंक पर जाएँ – ‘ बाल विकास एवं शिक्षण शास्त्र ‘ से सम्बंधित महत्त्वपूर्ण क्विज संग्रह विल्कुल मुफ्त – लिंक पर जाएँClick here

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *