मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान | National Parks Of M.P.

महत्त्वपूर्ण तथ्य –
भारत में सबसे ज्यादा राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश में है |
कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है और यह प्रदेश का पहला टाइगर प्रोजेक्ट भी है |
मध्य प्रदेश में 1974 से वन्य जीव संरक्षण अधिनियम लागू है |
मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान है|
मध्य प्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान ( घुघुआ ) फॉसिल राष्ट्रीय उद्यान है|
मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा अभयारण्य नौरादेही है |
मध्यप्रदेश का सबसे छोटा राला मंडल नौरादेही है |
मध्यप्रदेश के छः राष्ट्रीय उद्यान कान्हा किसली, पेंच ,संजय , बांधवगढ़ , सतपुड़ा , पन्ना Tiger Reserve क्षेत्र में शामिल हैं |

1. कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान/ Tiger Reserve

कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान एवं अभयारण्य National Parks Of Madhya Pradesh
कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान

कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है ये लगभग 940 वर्ग किमी. में फैला हुआ है, जो मंडला जिले के अंतर्गत आता है | इसे 1933 में अभयारण्य तथा 1955 में National Park बनाया गया था |कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान को 1974 में बाघ परियोजना (Tiger Reserve) में शामिल किया गया था |इस राष्ट्रीय उद्यान में बारहसिंगा , चीतल , चिंगार , बाघ , तेंदुआ , भालू आदि पाए जाते हैं | यहाँ पर हालो घाटी तथा बंजर घाटी प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं |कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान में वर्ल्ड बैंक की सहायता से पार्क इंटर प्रीवेंशल योजना चल रही है |

2. पन्ना राष्ट्रीय उद्यान / Tiger Reserve

पन्ना राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के बुदेलखंड क्षेत्र के पन्ना एवं छतरपुर में फैला हुआ है | इसका लगभग 543 वर्ग किमी. है | इस राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना 1981 में हुई थी तथा 1994 में इसे बाघ परियोजना (Tiger Reserve) में शामिल कर दिया गया था |

3. सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान / Tiger Reserve

होशंगाबाद जिले स्थित यह राष्ट्रीय उद्यान लगभग 525 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है | इसकी स्थापना 1983 में की गयी थी | इस राष्ट्रीय उद्यान में कृष्ण मृग की बहुतायत है |

4. बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान / Tiger Reserve

उमरिया जिले स्थित यह राष्ट्रीय उद्यान लगभग 437 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है | बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना 1968 में की गयी थी, तथा 1994 में इसे बाघ परियोजना (Tiger Reserve) में शामिल कर दिया गया था | इस राष्ट्रीय उद्यान में सफ़ेद शेर पाए जाते हैं तथा यह 32 पहाड़ियों से घिरा हुआ है |

5. पेंच ( प्रियदर्शनी ) राष्ट्रीय उद्यान / Tiger Reserve

पेंच ( प्रियदर्शनी ) राष्ट्रीय उद्यान सिवनी – छिन्दवाड़ा जिले तथा महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में फैला हुआ है जिसका क्षेत्रफल लगभग 293 वर्ग किमी है। इसकी स्थापना सन् 1975 में हुई थी। मोगली लैंड क्षेत्र तथा वॅाटर इस राष्ट्रीय उद्यान का आकर्षण केंद्र है।

6. संजय राष्ट्रीय उद्यान / Tiger Reserve

संजय राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश के सीधी जिले में 1981 में स्थापित किया गया था। इस राष्ट्रीय उद्यान का कुछ हिस्सा छत्तीसगढ़ राज्य में चला गया है। इसका क्षेत्रफल लगभग 467 वर्ग किमी है।

7. वन विहार राष्ट्रीय उद्यान

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान सन् 1979 में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थापित किया गया था । इसका क्षेत्रफल लगभग 4. 452 वर्ग किमी है।

8. माधव राष्ट्रीय उद्यान

माधव राष्ट्रीय उद्यान 1958 में शिवपुरी जिले में स्थापित किया गया था, इसका क्षेत्रफल लगभग 337 वर्ग किमी है। इस उद्यान से राष्ट्रीय राजमार्ग 3 आगरा – मुंबई गुजरता है। जार्ज कैसल भवन यही पर है।

9. ( घुघुआ ) फॉसिल राष्ट्रीय उद्यान 

( घुघुआ ) फॉसिल राष्ट्रीय उद्यान मंडला, डिंडोरी जिले में स्थित है। क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्यप्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान हैं इसका क्षेत्रफल लगभग 0.27 वर्ग किमी है। इसकी स्थापना 1968 में की गई थी। इस उद्यान में पादपों तथा जन्तुओं के जीवाश्म पाए जाते हैं।

10. कुनो राष्ट्रीय उद्यान

कुनो राष्ट्रीय उद्यान प्रदेश के श्योपुर एवं मुरेना जिले में स्थित है इसमें 404 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को शामिल किया गया है। इसे सन् 2018 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया था। राष्ट्रीय उद्यान बनाये जाने से पहले कुनो एक वन्यजीव अभ्यारण्य था, जिसकी स्थापना सन् 1981 को एक वन्य अभयारण्य के रूप में करी गई थी।

Some Other Posts That are Useful to you-

Question Bank For Competitive Exam

List of National Parks Of India

ShortCut Key For MS-Word

August 21, 2019

Free Online test series, Questions and answers , online mock test for competitive exam
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *