बाल मनोविज्ञान | बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र

बाल विकास (Child Development ) एवं बाल मनोविज्ञान (Child Psychology ) –

बाल विकास (Child Development ) किसी भी बालक के जीवन की विकास यात्रा जब वह अपनी माँ के गर्भ में आता है, तबसे प्रारम्भ हो जाती है, और जैसा की सर्वविदित है की विकास कभी ख़त्म ने होने वाली निरंतर प्रक्रिया है । अर्थात बालक का विकास भी उसके गर्भ में आने के उपरांत धीरे-धीरे जीवन पर्यंत ही चलता रहता है             

  बाल मनोविज्ञान- (Child Psychology ) बाल मनोविज्ञान के अंतर्गत बालक के मन एवं स्वभाव का अध्यन किया जाता है ।

“बाल विकास एवं बाल मनोविज्ञान अलग अलग नहीं है, बाल मनोविज्ञान का आधुनिक रूप ही बाल विकास कहा जाता है

बालक का सम्पूर्ण विकास (शारीरिक ,मानसिक, बौद्धिक, सामाजिक एवं भावनात्मक )  कैसे भली भांति संभव हो सके या इसमें कौन कौन सी कठिनाइयां आ सकतीं है, उनका अध्ययन और उन कठिनाइयों का निदान बाल विकास के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है  ।

बाल विकास के अध्ययन के सन्दर्भ में प्राचीन काल से ही मनोवैज्ञानिक एवं दार्शनिक प्रयासरत रहे हैं । इसके प्रमाण प्लेटो की एक पुस्तक ‘The Republic’ में मिलते हैं ।  

बाल विकास की कुछ परिभाषाएं एवं इससे सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य

बाल विकास वह वैज्ञानिक जिसमे गर्भावस्था के प्रारंभ से किशोरावस्था के प्रारम्भ तक होने वाले विकास का अध्ययन किया जाता है।क्रो & क्रो  
“बाल मनोविज्ञान का सम्बन्ध बालक में मनोवैज्ञानिक प्रक्रिया के विकास से है। एवं इसके अंतर्गत गर्भकालीन अवस्था ,जन्म, शैशवावस्था , बाल्यावस्था ,किशोरावस्था और परिपक्वावस्था तक की बाल मनोवैज्ञानिक विकास प्रक्रियाओं का अध्ययन किया जाता है । ” आइजेक  
बाल मनोविज्ञान पर स्विट्ज़रलैंड के मनोवैज्ञानिक ‘जीन पियाजे’ ने सबसे अधिक 32 पुस्तकों का लेखन किया है।  
बाल-अध्ययन आन्दोलन की शुरुआत 19 वीं शताब्दी में अमेरिका में हुई।  
बाल विकास का अध्ययन सर्वप्रथम जॉन लॉक और थॉमस हाब्स ने प्रारंभ किया  ।  
विकास का सामान्य वर्गीकरण गर्भावस्था ,शैशवावस्था ,बाल्यावस्था ,किशोरावस्था एवं प्रौढावस्था में किया गया है ।  

बाल विकास के प्रमुख सिद्धांत और उनके जनक

सिद्धांत जनक
नैतिक विकास का सिद्धांत कोहेलबर्ग (अमेरिका )
संज्ञानात्मक विकास का सिद्धांत जीन पियाजे (स्विट्ज़रलैंड)
भाषायी विकास का सिद्धांत नाम चोमस्की (फिला डेल्फिया)
सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास का सिद्धांत बाइगोत्सिकी (सोवियत संघ)
मनोसामाजिक विकास का सिद्धांत इरिक इरिक्सन (अमेरिका-जर्मन)
मनोलैंगिक विकास का सिद्धांत फ्रायड (ऑस्ट्रिया)
सामाजिक एवं सांवेगिक विकास का सिद्धांत युरी ब्रान (अमेरिका )

बाल विकास एवं शिक्षण शास्त्र ‘ से सम्बंधित महत्त्वपूर्ण क्विज संग्रह विल्कुल मुफ्त – लिंक पर जाएँ – click here

ये क्विज CTET/TET में विगत वर्षों में पूछे गए क्वेश्चन से खास शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए तैयार किये गए हैं , अवश्य लगायें  ।

क्विक लिंक्स –

बाल विकास एवं शिक्षण शास्त्र के टॉपिक वाईज क्विजclick here
मनोविज्ञान क्या है –click here
बाल मनोविज्ञानclick here
विकास की प्रमुख अवस्थाएँ-click here
विकास के प्रमुख सिद्धांत –click here
अधिगम एवं अभिप्रेरणाclick here
बुद्धि क्या हैclick here
प्रक्टिस सेट – Pedagogy (विविध)click here

CTET/TET/MPTET/HTET/SUPERTET/UPTET से सम्बंधित अन्य विषय के क्विज एवं नोट्स के लिए लिंक –

पर्यावरण अध्ययनclick here
हिंदी भाषाclick here
अंग्रेजी भाषाclick here
संस्कृत भाषाclick here

CTET/TET/MPTET/HTET/SUPERTET/UPTET से सम्बंधित अन्य क्विक लिंक्स

TET/CTET  या STET परीक्षाएं  क्या हैं ? इनके आयोजन का क्या लक्ष्य होता है ?click here
Syllabus of TET/CTET (Paper I )click here
Syllabus of TET/CTET (Paper II )click here
April 4, 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *